Cover

देश को मिली पहली कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से शुरू हो सकता है टीकाकरण अभियान

नई दिल्ली। कोरोना महामारी से जूझ रहे देश को नए साल के पहले दिन बड़ी सौगात मिली। अब देश को पहली कोरोना वैक्सीन मिलने की औपचारिकता भर रह गई है। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोरोना पर विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी देने की सिफारिश की है। अंतिम मंजूरी के लिए इसे देश के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआइ) वीजी सोमानी के पास भेजा जाएगा, जो कभी भी इसके इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे सकते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित वैक्सीन को भारत में पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) कोविशील्ड के नाम से तैयार कर रही है

उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को एसईसी ने सीरम इंस्टीट्यूट की ओर से पेश किए गए ट्रायल के डाटा के गहन परीक्षण के बाद इसके इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए सुरक्षित पाया और इसके लिए अनुशंसा करने का फैसला किया। इसके पहले एसईसी ने बुधवार को भी ट्रायल का डाटा का विश्लेषण किया था, लेकिन पूरा विश्लेषण नहीं होने के बाद शुक्रवार को फिर से बैठक बुलाई गई। सीरम इंस्टीट्यूट के अलावा भारत बायोटेक और फाइजर ने भी अपनी-अपनी वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत के लिए आवेदन किया है। सीरम ने छह दिसंबर, भारत बायोटेक ने सात दिसंबर और फाइजर ने अपने टीके को नियामक मंजूरी देने के लिए चार दिसंबर को आवेदन किया था।

सीरम-भारत बायोटेक ने दिया अतिरिक्त डाटा

सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक ने एसईसी को मांग के मुताबिक ट्रायल का अतिरिक्त डाटा मुहैया कराया था, लेकिन फाइजर ने अभी तक अतिरिक्त डाटा नहीं दिया। हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के अतिरिक्त डाटा का एसईसी विश्लेषण कर रहा और माना जा रहा है कि उसके इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत देने की अनुशंसा कभी भी की जा सकती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मिलने के बाद अगले हफ्ते कभी भी टीकाकरण शुरू किया जा सकता है।

पहले चरण में 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने की तैयारी

भारत में पहले चरण में 30 करोड़ लोगों को टीका लगाने की तैयारी की गई है। इसमें एक करोड़ डॉक्टर, नर्स और अन्य स्वास्थ्यकर्मी, दो करोड़ सफाईकर्मी और सुरक्षाकर्मी और 50 साल से अधिक उम्र और पहले से ही गंभीर रोगों से संक्रमित 27 करोड़ लोग शामिल हैं।

टीकाकरण के लिए पूरी तैयारी

स्वास्थ्य मंत्रालय टीकाकरण की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। शनिवार को पूरे देश में इसका पूर्वाभ्यास किया जाएगा। शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इसके लिए तैयारियों का जायजा लिया। पूर्वाभ्यास में प्राथमिकता वाले समूहों की पहचान और उन्हें वैक्सीन देने से लेकर किसी प्रकार की साइड इफेक्ट पर नजर रखने के लिए ब्लॉक स्तर पर तैयार रिस्पांस टीम की कार्यकुशलता को भी परखा जाएगा। साथ ही कोल्डचेन से निकलने से लेकर लक्षित लाभार्थियों के लगने तक वैक्सीन पर निगरानी के लिए तैयार ऑनलाइन प्लेटफार्म को-विन की कार्यकुशलता का भी आकलन किया जाएगा। इससे पहले 28 और 29 दिसंबर को पंजाब, गुजरात, असम और आंध्र प्रदेश में वैक्सीन देने का पूर्वाभ्यास सफलतापूर्वक पूरा किया जा चुका है।

96 हजार कर्मचारियों को प्रशिक्षण

कोरोना के टीकाकरण अभियान के लिए पूरे देश में 96 हजार कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। वैक्सीन लगाने के लिए जरूरी 83 करोड़ सी¨रज की व्यवस्था भी लगभग हो चुकी है।

सस्ती और भारत के अनुकूल है कोविशील्ड

अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर की वैक्सीन की तुलना में कोविशील्ड वैक्सीन सस्ती है और इसका रखरखाव भी बेहद आसान है। फाइजर वैक्सीन की दो खुराक लगभग तीन हजार रुपये में पड़ेगी, जबकि सीरम की वैक्सीन की दो खुराक सरकार को महज पांच सौ रुपये में ही मिल जाएगी। फाइजर की वैक्सीन को रखने के लिए जहां माइनस 70 डिग्री सेल्सियस तापमान की जरूरत पड़ेगी, वहीं कोविशील्ड को सामान्य रेफ्रिजरेटर यानी दो से आठ डिग्री सेल्सियस तापमान में रखा जा सकता है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890