Cover

ट्रंप समर्थकों के हिंसा भड़काने वाले पोस्ट के चलते गूगल ने ‘पार्लर’ एप को प्लेस्टोर से हटाया

वाशिंगटन। इंटरनेट दिग्गज गूगल ने माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पार्लर को अपने प्लेस्टोर से हटा दिया है। हाल में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक बड़े पैमाने पर इस एप से जुड़े हैं। गूगल ने हिंसा भड़काने वाले विभिन्न पोस्ट के चलते यह कदम उठाया है। पार्लर एप से ऐसे कंटेंट पर ज्यादा सख्ती के लिए कहा गया है। एपल ने भी कहा है कि अगर पार्लर ने सख्ती नहीं की तो उसे एप स्टोर से हटा दिया जाएगा।

गूगल ने कहा- एप्स में हिंसा भड़काने वाले कंटेंट पर रोक की व्यवस्था

गूगल ने कहा, ‘गूगल प्ले पर यूजर्स की सुरक्षा को देखते हुए हमेशा से हमारी नीति रही है कि एप्स में हिंसा भड़काने वाले कंटेंट पर रोक की व्यवस्था हो। हमने हाल के महीनों में पार्लर को इस बारे में चेताया भी था।’ एपल ने भी कहा कि पार्लर के कंटेंट का लेकर कई शिकायतें मिली हैं। ऐसे आरोप लग रहे हैं कि छह जनवरी को वाशिंगटन में जो हुआ, उसकी योजना इस एप पर बनी थी। इस पर पलटवार करते हुए पार्लर के सीईओ जॉन मेज ने कहा, ‘अगर पार्लर पर हर यूजर कंटेंट के लिए पार्लर जिम्मेदार है, तो इस हिसाब से तो आइफोन से होने वाले हर अपराध के लिए एपल को जिम्मेदार होना चाहिए।’

कैपिटल हिल परिसर में हिंसा, ट्विटर ने ट्रंप का अकाउंट स्‍थायी रूप से सस्‍पेंड

अमेरिकी संसद कैपिटल हिल परिसर में हुई हिंसा के बाद माइक्रो ब्‍लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर ने राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का निजी अकाउंट पहले 12 घंटे फिर 15 दिन और अब स्‍थायी रूप से सस्‍पेंड कर दिया है। ट्विटर को अंदेशा है कि ट्रंप फिर कोई ऐसा ट्वीट कर सकते हैं, जिससे कैपिटल हिल में हुई हिंसा जैसे हालात बन सकते हैं। निजी अकाउंट सस्‍पेंड होने के बाद डोनाल्‍ड ट्रंप ने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट @POTUS से एक ट्वीट किया। लेकिन इस ट्वीट को भी ट्विटर ने कुछ ही मिनटों में हटा दिया है। बताया जा रहा है कि आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से किए गए ट्वीट में ट्रंप ने माइक्रो ब्‍लॉगिंग वेबसाइट की आलोचना की थी। डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा है कि वह चुप रहने वाले नहीं हैं।

ट्रंप के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट्स पर अनिश्चित काल तक के लिए बैन

बता दें कि ट्विटर ही नहीं, अमेरिका में कैपिटल हिल परिसर में हुई हिंसा के बाद डोनाल्‍ड ट्रंप के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट्स पर भी अनिश्चित काल तक के लिए बैन लगा दिया गया है। हालांकि, अब ट्विटर ने ट्रंप के अकाउंट को हिंसा के और भड़काने के जोखिम की आशंका के चलते स्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890