Cover

महाराष्‍ट्र सरकार ने टीकाकरण अभियान को दो दिन के लिए किया सस्‍पेंड, कोविन-एप में तकनीकी खामी बनी वजह

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra government) ने कोरोना महामारी के खिलाफ चलाए जा रही टीकाकरण अभियान को राज्‍य में दो दिनों के लिए रोक दिया है। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, कोविन-एप (Co-WIN app) में तकनीकी समस्‍या के चलते यह फैसला लिया गया है। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कोविन-एप (Co-WIN app) केवल महाराष्‍ट्र ही नहीं वरन देश के तमाम हिस्‍सों में टीकाकरण में समस्‍याएं खड़ी कर रहा है। इसी वजह से हमने फैसला किया है कि अगले दो दिनों तक राज्‍य में टीकाकरण निलंबित रहेगा।

महाराष्‍ट्र के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा कि आठ जनवरी को जब टीकाकरण का ड्राइरन किया जा रहा था तभी हमने ऐसी समस्‍या आने की बात कही थी। आज फिर मैंने कोविन-एप (Co-WIN app) में आ रही समस्‍या की ओर केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन का ध्‍यान आ‍कर्षित कराया है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन ने इसे देखने की बात कही है। राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने बताया कि राज्‍य के अधिकारियों ने बताया कि एप से उन लोगों को लिखित संदेश नहीं जा रहे थे जिन्‍हें पहले दिन वैक्‍सीन दी जानी थी।

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट में कहा गया है कि महाराष्‍ट्र सरकार ने पहले दिन कुल 28,500 स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों के टीकाकरण का लक्ष्‍य रखा था लेकिन कोविन-एप (Co-WIN app) में तकनीकी समस्‍या के चलते शानिवार शाम तक लक्ष्‍य हासिल नहीं किया जा सका। हालांकि इस तकनीकी समस्‍या के बावजूद कम से कम 18,425 लाभार्थियों को वैक्‍सीन दी गई और 65 फीसद लक्ष्‍य हासिल कर लिया गया। कोविन-एप (Co-WIN app) में तकनीकी समस्‍या के चलते उन लोगों को संदेश नहीं भेजा जा सकता है जिनका पंजीकरण हो चुका है और जिन्‍हें टीका लगवाना है।

वहीं बीएमसी ने अपने बयान में कहा है कि कोविड टीकाकरण के लिए डिजिटल पंजीकरण अनिवार्य है लेकिन शनिवार को अभियान के पहले दिन कोविन-एप में तकनीकी समस्या के चलते ऑफलाइन पंजीकरण की अनुमति दी गई थी। अब राज्‍य सरकार ने निर्देश जारी किया है कि टीकाकरण के लिए आगे सभी रजिस्‍ट्रेशन कोविन-एप (Co-WIN app) के जरिए ही होंगे। राज्‍य सरकार के आदेश को देखते हुए मुंबई में भी तब तक टीकाकरण निलंबित रहेगा जब तक कि केंद्र सरकार एप में आई समस्‍या को दूर नहीं कर लेती है।

मुंबई में पहले दिन टीकाकरण के लिए 4,000 स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को टीका लगना था जिनमें से केवल 1,926 का ही टीकाकरण हो पाया। सबसे ज्‍यादा राजावाड़ी अस्‍पताल में 289 स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों का टीकाकरण किया गया।मालूम हो कि टीकाकरण अभियान को सुचारु रूप से चलाने और सारी व्यवस्थाओं पर आनलाइन नजर रखने के लिए सरकार ने को-विन नाम का प्लेटफार्म विकसित किया है। इसके जरिए देश भर में वैक्सीन की उपलब्धता, भंडारण तापमान और लाभान्वितों की जानकारी रियल टाइम पर ली जा सकती है। कोविन-एप (Co-WIN app) केे जरिए ही टीकाकरण का पंजीकरण भी हो रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890