Cover

राजस्थान के जालोर में करंट की चपेट में आई यात्रियों से भरी बस, ड्राइवर समेत 6 लोगों की मौत, तकरीबन 3 दर्जन झुलसे

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर संभाग के जालोर जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां के महेशपुर गांव में यात्रियों से भरी एक बस बिजली के तार की चपेट में आ गई, जिससे की इसमें सवार लोग बुरी तरह झुलस गए पूरी बस आग की चपेट में आने से ड्राइवर समेत 6 लोगों के मौत की सूचना है ।वही बस में सवार तकरीबन सभी लोग झुलसे हैं, जिनको इलाज के लिए जालौर भिजवाया गया है। वहीं कुछ गंभीर लोगों को जोधपुर लाने की बात सामने आई है। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस और प्रशासनिक अमला महेशपुर गांव पहुचा, और राहत बचाव कार्य शुरू किए। यह सभी लोग जैन समुदाय से जुड़े बताए जा रहे हैं जो कि तीर्थाटन पर थे।

मिली जानकारी के मुताबिक, राजस्थान के जालोर जिले के महेशपुर गांव में भीषण हादसा हुआ है। यात्रियों से भरी हुई दो बसें रास्ता भटकीं और एक गांव में पहुंच गई। वहां रास्ते में बिजली के तार झूलते देख ड्राइवर ने बस रोक दी। बस का कंडक्टर या खलासी बस की छत पर पहुंचा और एक डंडे की मदद से बिजली के तार को ऊपर उठा कर बस को निकालने की कोशिश की जा रही थी।इसी दौरान डंडे से बिजली का तार झटक कर बस से अटक गया। जिससे कि बस में करंट दौड़ गया। इसके बाद बस में सवार अन्य लोग भी करंट की चपेट में आए और देखते ही देखते बस में भी आग पकड़ ली।

सभी जैन समुदाय के लोग थे सवार

इस हादसे में बस में सवार सभी लोग जैन समुदाय से संबंधित थे जो कि तीर्थटन पर निकले थे ।मृतकों की पहचान के लिए पुलिस ने प्रयास तेज किये है। हादसे में ब्यावर निवासी सोनल (44), सुरभि ( 25 ) , ब्यावर निवासी चांद देवी ( 65 ) , अजमेर निवासी राजेन्द्र , और ड्राइवर धर्मचदं जैन व एक अन्य की मौत हो गई , जबकि बस में सवार अन्य लोग झुलसे हैं। जिनको जालोर भेज गया है। गंभीर झुलसे लोगो को जोधपुर रेफर किया गया है।

नाकोड़ा दर्शन कर निकले थे श्रद्धालु

दो बसों में सवार यह सभी श्रद्धालु अजमेर और ब्यावर क्षेत्र के निवासी बताए जा रहे हैं। वे बाड़मेर के नाकोड़ा में दर्शन करने के बाद जालोर के मांडोली में जैन मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे । मगर यहां से ब्यावर जाते समय रास्ता भटककर महेशपुरा गांव पहुंच गए । वहां बिजली तार की चपेट में आने से हादसा हो गया । नाकोड़ा दर्शन करने के बाद यह सभी जालौर के रामसीन क्षेत्र में बने जैन मंदिर के दर्शन करने के लिए जा रहे थे। लेकिन गूगल मैप के जरिए रास्ता भटकने के बाद यह महेशपुर गांव में पहुंच गए जहां बिजली के तारों के संपर्क में आने से पूरी बस में करंट फैल गया और बाद में आग लग गई जिससे यह हादसा हो गया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890