Cover

कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने कहा- क्या गरीबों और वंचितों को मुफ्त में लगेगा कोरोना का टीका

नई दिल्ली। देश में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू होने के अगले ही दिन रविवार को कांग्रेस ने पूछा कि क्या सभी भारतीयों, खासकर वंचितों और गरीबों को मुफ्त टीका लगाने की सरकार की योजना है और यह कब लगाया जाएगा?

सुरजेवाला ने कहा- क्या भारत की शेष आबादी को भी टीका लगाया जाएगा

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकार दावा करती है कि टीकाकरण अभियान के पहले चरण में तीन करोड़ लोगों को टीका लगाया जाएगा, लेकिन इस बारे में कुछ नहीं बताया गया है कि क्या भारत की शेष आबादी को टीका लगाया जाएगा और क्या यह मुफ्त लगाया जाएगा?

सुरजेवाला ने कहा- गरीबों और वंचितों को टीका मुफ्त में लगाया जाएगा या नहीं

उन्होंने कहा कि क्या सरकार को पता नहीं कि देश में 81.35 करोड़ लोग खाद्य सुरक्षा कानून के तहत सब्सिडी वाले राशन के हकदार हैं? अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वालों, गरीबों और वंचितों को टीका मुफ्त में लगाया जाएगा या नहीं ? अगर हां, तो टीकाकरण की क्या योजना है और कब तक सरकार मुफ्त टीकाकरण कराएगी।

कांग्रेस नेता ने कहा- मुफ्त कोरोना टीका किसे लगेगा, पीएम मोदी दें जवाब

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार को जवाब देना होगा कि मुफ्त कोरोना टीका किसे लगेगा? यह मुफ्त टीका कहां लगेगा?

कांग्रेस नेता ने भारत बायोटेक के टीके की अधिक कीमत पर भी उठाया सवाल

कांग्रेस नेता ने दोनों टीकों कोवैक्सीन और कोविशील्ड के मूल्य को लेकर भी सवाल खड़े किए। भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित तथा भारत में एसआइआइ द्वारा निर्मित कोविशील्ड को देश में सीमित आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है।

कांग्रेस नेता ने कहा- खुले बाजार में कोरोना के टीके की कीमत 1,000 रुपये क्यों है

उन्होंने पूछा कि सरकार को भारत बायोटेक को उस टीके के लिए 95 रुपये अधिक क्यों देने चाहिए, जिसे भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के विज्ञानियों के अनुभव और विशेषज्ञता से विकसित किया गया है। उन्होंने कहा कि क्या ऐसे टीके की कीमत एस्ट्राजेनेका-सीरम इंस्टीट्यूट के टीके से कम नहीं होनी चाहिए? खुले बाजार में कोरोना के टीके की कीमत 1,000 रुपये क्यों है?

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.