Cover

विधायकों को साल में दो करोड़, इन प्रधानों को मिलेंगे 25-25 करोड़ रुपये

गोरखपुर। यूं तो पंचायत चुनाव की सरगर्मी हर गांव में बढ़ गई है, लेकिन 34 गांव ऐसे हैं जहां के प्रत्याशी प्रधानी पाने के लिए कोई भी हथकंडा अपनाने को तैयार हैं। हों भी क्यों न? इन गांवों के खाते में इतनी रकम पहुंचने वाली है, जितनी शायद विधायक को भी न मिले। 10 ग्राम पंचायतें तो ऐसी हैं, जिन्हें 10 करोड़ रुपये का परफार्मेंस ग्रांट न केवल आवंटित हो चुका है, बल्कि पेशगी के तौर पर पहली किस्त के 50-50 लाख रुपये भी मिल चुके हैं। कुछ प्रधानों ने कार्यकाल के अंतिम समय में भले ही यह रकम खर्च कर दी, लेकिन भारी-भरकम बजट तो अगले कार्यकाल में आना है। इसी रकम की प्रत्याशा में हर प्रत्याशी प्रधान बनने की कोशिश में जुटा है।

प्रधान बनने के लिए दावेदारों ने झोंकी ताकत, मतदाता ही नहीं प्रत्याशियों की भी घेराबंदी

सामान्य गांवों में जहां प्रत्याशी बैनर-पोस्टर, होर्डिंग लगाकर दावेदारी जताने में जुटे हैं वहीं परफार्मेंस ग्रांट के लिए चयनित गांवों में दावतों और सेवा का दौर अभी से शुरू हो गया है। कोई बीमार को अस्पताल पहुंचाने में जुटा है तो कोई बस बुक कराकर मतदाताओं को गंगा स्नान कराकर पुण्य कमाने के जुगाड़ में है। जिसके बेटे-बेटियों की शादी है, उसके घर तो मददगारों की लाइन लग गई है। कोई राशन देने की बात कह रहा है तो कोई टेंट-शामियाना बिजली का खर्च उठाने को तैयार है। रात की दावतों का तो पूछना ही नहीं है। प्रत्याशी अपने खास समर्थकों के घर दावतों का आयोजन कर पुराने गिले-शिकवे दूर करने में जुट गए हैं। मतदाताओं के कोर्ट-कचहरी, थाना-पुलिस और सरकारी महकमों से जुड़े लंबित कामों को कराने के लिए भी प्रत्याशी कार्यालयों का चक्कर काटते नजर आ रहे हैं।

प्रधान होंगे रुपयों के मालिक

वर्ष 2016-17 के 700 करोड़ रुपये के परफार्मेंस ग्रांट में से करीब 300 करोड़ रुपया गोरखपुर की 37 ग्राम पंचायतों को आवंटित किया गया है। तीन ग्राम पंचायतों के नगर निकाय में शामिल होने के चलते उनकी डीपीआर पर विचार नहीं किया गया। 34 ग्राम पंचायतों के लिए आवंटित 300 करोड़ रुपये डीपीआर के हिसाब से गांवों में बांटे जाएंगे, जिन्हें खर्च करने का अधिकार प्रधान और सचिव को होगा।

इन मदों में खर्च की जाएगी रकम

परफार्मेंस ग्रांट की रकम ग्राम पंचायतें सड़क, नाली, स्ट्रीट लाइट, कूड़ा प्रबंधन, पेयजल, भूगर्भ जल, लैंड स्केपिंग, पार्क, खेल मैदान, पौधरोपण, जिम, स्कूल, अन्य सरकारी भवनों के सुदृढ़ीकरण के अलावा ग्राम पंचायत को सुचारू रूप से चलाने के लिए जरूरी अवस्थापना मद में खर्च की जाएगी।

इन गांवों को मिलनी है इतनी ग्रांट

परसिया तिवारी (बड़हलगंज) 7.67

किशुनपुर उर्फ बगही (बांसगांव) 4.57

कटया (बेलघाट) 4.03

नकौड़ी खास (बेलघाट) 3.74

औरंगाबाद (भटहट) 3.48

जंगल हरपुर (भटहट) 10.09

बेलवा (ब्रह्मपुर) 5.61

चौमुखा (कैम्पियरगंज) 11.97

जंगल तिनकोनिया नंबर एक (चरगांवा) 11.76

परमेश्वरपुर (चरगांवा) 19.72

बनकटा (गोला) 3.80

भड़सरा (गोला) 4.34

तुर्कवलिया (जंगल कौडिय़ा) 12.18

काजीपुर (जंगल कौडिय़ा) 4.56

बासपार (कौड़ीराम) 3.94

बेलीपार (कौड़ीराम) 6.36

कौड़ीराम (कौड़ीराम) 5.45

भेउसा उर्फ बनकटा (खजनी) 18.62

जयपालपुर (खजनी) 4.80

साखडाड पांडेय (खजनी) 6.34

छितौना (खोराबार) 3.53

मकरहठ  (पाली) 3.19

मुस्तफाबाद (पाली) 3.69

नेवास (पाली) 8.92

नारंग पट्टी (पाली) 3.57

रूद्रपुर (पिपराइच) 17.63

जंगल दीर्घन सिंह (पिपरौली) 4.06

जंगल रानी सुहास कुंवारी (पिपरौली) 25.53

सीयर (पिपरौली) 4.47

भौंवापार (पिपरौली) 16.64

भडसार (सहजनवां) 14.23

भीमापार (सहजनवां) 4.03

रघुनाथपुर (सहजनवां) 8.62

भोपा बाजार (सरदारनगर) 7.80

का मरचा (उरूवां) 3.01

नारायणपुर (उरूवां) 8.08

सिसवा उर्फ सिउवा (उरूवां) 6.27

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890