Cover

कोरोना के बाद दिल्ली में नई महामारी का खतरा, पांच साल तक के बच्चे बन रहे शिकार

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 34,884 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 10,38,716 हो गई, जिनमें से 671 लोगों की मौत हो जाने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 26,273 हो गई। वहीं अब तक दिल्ली में 1 लाख 20 हजार 107 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इसमें से 99 हजार 301 मरीज ठीक हो चुके हैं। दिल्ली में रिकवरी रेट 82. 67 प्रतिशत हो चुका है। इसके साथ ही दिल्ली में अब कोरोना से परेशान दिल्लीवासियों पर अब एक नई मुसीबत आती हुई दिखाई दे रही है। पिछले कुछ महीनों में दिल्ली के कई अस्पतालों ने कोरोना से संक्रमित बच्चों में चकत्ते और सूजन जसे कावासाकी नामक दुर्लभ बीमारी से जुड़े लक्षण देखे हैं।

कावासाकी रोग एक ऐसा सिंड्रोम है जो किस कारण से होता है ये अब तक पता नहीं चला है। इसमें बुखार आता है। ये मुख्य रूप से 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को प्रभावित करता है। कावासाकी रोग वास्कुलिटिस का एक रूप है। जहां पूरे शरीर की रक्त वाहिकाओ में सूजन हो जाती हैं। बुखार आमतौर पर पांच दिनों से अधिक समय तक रहता है, और सामान्य दवाओं से इस बीमारी पर कोई असर नहीं होता है। देश के शीर्ष बच्चों के अस्पतालों में से एक, दिल्ली के कलावती सरन अस्पताल में कोरोना संक्रमित 5-6 बच्चों में कावासाकी के लक्षण देखे गए हैं। उनमें बुखार, चकत्ते, श्वसन और जठरांत्र संबंधी लक्षण मिले हैं।

दिल्ली में कोरोना महामारी की स्थिति अब कुछ नियंत्रण में
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी की स्थिति अब कुछ नियंत्रण में है और यहां संक्रमण के मामलों में वृद्धि की रफ्तार थोड़ी कम हुई है। राजधानी में अब तक 1,20,107 लोग कोरोना की चपेट में आये हैं तथा इसके कारण मरने वालों की संख्या 3571 हो गयी है। यहां अब तक 99,301 मरीज रोगमुक्त हुए हैं। दक्षिण भारतीय राज्य कर्नाटक संक्रमितों की संख्या के मामले में गुजरात को पीछे छोड़कर चौथे स्थान पर पहुंच गया है। राज्य में 55,115 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 1147 लोगों की इससे मौत हुई है, वहीं 20,757 लोग स्वस्थ भी हुए हैं। देश का पश्चिमी राज्य गुजरात संक्रमण के मामले में पांचवें स्थान पर आ गया है, लेकिन मृतकों की संख्या के मामले में यह महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु के बाद चौथे स्थान पर है।

गुजरात में 46,430 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं तथा 2106 लोगों की मौत हुई है। राज्य में 32,973 लोग इस बीमारी से स्वस्थ भी हुए हैं। आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के अब तक 45,163 मामले सामने आए हैं तथा इस महामारी से 1084 लोगों की मौत हुई है जबकि 27,634 मरीज ठीक हुए हैं।एक और दक्षिण भारतीय राज्य तेलंगाना में भी कोरोना संक्रमण के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। तेलंगाना में कोरोना संक्रमितों की संख्या 42,496 हो गयी है और 403 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 28,705 लोग अब तक इस महामारी से ठीक हुए हैं। आंध्र प्रदेश में संक्रमितों की संख्या में तेजी से वृद्धि होने के कारण यह सर्वाधिक प्रभावित राज्यों की सूची में पश्चिम बंगाल से ऊपर आ गया है। राज्य में 40,646 लोग संक्रमित हुए हैं तथा मरने वालों की संख्या 534 हो गयी है, जबकि 20,298 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890