Cover

सीरिया में चुनावी सरगर्मियां तेज, अल-असद को बनाया जा सकता है नया प्रधानमंत्री

दमिश्क। सीरिया में संसदीय चुनाव की सरगर्मियां तेज है। सीरियाई संसद के चुनाव को बस अब कुछ ही दिन शेष बचे हैं। सीरियाई सरकार को उम्‍मीद है कि नई राजनीतिक व्‍यवस्‍था देश को आर्थिक कठिनाइयों से मुक्‍त करा सकती है। चुनावी मैदान में आठ हजार उम्‍मीदवारों ने नामांकन किया था, लेकिन 2100  को योग्‍य घोषित किया गया है। गौरतलब है कि देश में संसदीय चुनाव अप्रैल महीने में होने थे, लेकिन कोरोना वायरस के प्रसार के कारण इस चुनाव को स्‍थगित करना पड़ा। सीरिया में 14 प्रांत हैं और देश की संसद के लिए 250 सांसद चार साल के लिए चुन कर आते हैं।

अल-असद को बनाया जा सकता है नया प्रधानमंत्री

नई संसद ने एक नए संविधान को मंजूरी देने की योजना बनाई है। इस योजना के तहत अल-असद को नया प्रधानमंत्री बनाया जा सकता है। नई संसद से यह भी उम्‍मीद की जा रही है कि वह अगले राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारों की सूची को अपनी मंजूरी देगी। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि अल-असद को अतंरराष्‍ट्रीय बिरादरी में मान्‍यता मिलना मुश्किल है। इसकी बड़ी वजह है, क्‍योंकि इतिहास में उनके कार्यकाल को एक खूनी गृहयुद्ध के रूप में याद किया जाता है। उनके कार्यकाल में देश के अंदर और बाहर सैकड़ों लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था। उनके कार्यकाल में लाखों सीरियाई लोग विस्‍थापित हुए थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.