Cover

सुप्रीम कोर्ट में राजस्थान हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ स्पीकर की याचिका पर आज होगी सुनवाई

नई दिल्‍ली। राजस्‍थान के सचिन पायलट सहित 19 विधायकों को स्पीकर के अयोग्यता नोटिस के मामले में सुुप्रीम कोर्ट में सुनवाई सोमवार को होगी। दरअसल, सीएम अशोक गहलोत की बुलाई बैठक में नहीं पहुंचने पर 14 जुलाई को स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट समेत 19 विधायकों को नोटिस जारी कर पूछा था- क्यों न आपको अयोग्य घोषित कर दिया जाए। इस मामले में 16 जुलाई को सचिन पायलट समेत 19 विधायक राजस्‍थान हाईकोर्ट पहुंच गए थे।

इस मामले में राजस्‍थान के हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांती और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने शुक्रवार सुबह अपने आदेश में कहा कि था कि स्पीकर अभी बागी विधायकों पर कोई कार्रवाई नहीं कर सकते, पहले का फैसला लागू रहेगा। फिलहाल नोटिस पर कोई कार्रवाई नहीं होगी और आगे सुनवाई जारी रहेगी। हाई कोर्ट ने पायलट खेमे की ओर से केंद्र सरकार को पक्षकार बनाने की अर्जी भी स्वीकार कर ली। केंद्र सरकार की तरफ से अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल आरडी रस्तोगी पक्ष रखेंगे

हाई कोर्ट ने माना कि याचिका मेंटिनेबल है, लेकिन मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है। 22 जुलाई को स्पीकर सीपी जोशी राजस्‍थान हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट चले गए थे। सु्प्रीम कोर्ट ने राजस्‍थान हाईकोर्ट के मामले में हस्‍तक्षेप करने से इंकार कर दिया था। उसी मामले में सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई होनी है।

उधर, राजस्थान के सियासी संकट के बीच बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के 6 सदस्यीय विधायक दल के कांग्रेस में विलय को लेकर राजस्थान हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई होगी। सितंबर, 2019 में बसपा के 6 विधायक लाखन सिंह, जोगेंद अवाना, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, राजेंद्र गुढ़ा और संदीप कुमार कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

ये है राजस्‍थान का घटनाक्रम 

-सीएम अशोक गहलोत की बुलाई विधायक दल की बैठक में भी जब पायलट खेमे के विधायक नहीं पहुंचे, तो कांग्रेस ने स्पीकर से शिकायत की।

14 जुलाई को स्पीकर ने पायलट समेत 19 विधायकों को नोटिस जारी कर पूछा था- क्यों न आपको अयोग्य घोषित कर दिया जाए?

16 जुलाई को पायलट खेमा हाईकोर्ट पहुंच गया। 17 जुलाई को हाई कोर्ट की सिंगल बेंच ने सुनवाई की और मामला दो जजों की बेंच में भेजा।

– इस बेंच ने 18 जुलाई को सुनवाई तय की। 20 और 21 जुलाई को सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने फैसला 24 जुलाई के लिए सुरक्षित रख लिया। उधर, 22 जुलाई को स्पीकर सीपी जोशी हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट चले गए।

– 23 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट की सुनवाई को रोकने से इनकार कर दिया और सोमवार को सुनवाई तय की।

इन विधायकों को नोटिस दिया गया

सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पीआर मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़ि‍या, हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत।

विधानसभा की मौजूदा स्थिति

कुल सीटें : 200

बहुमत के लिए जरूरी : 101

कांग्रेस : 107

पायलट खेमे के 19 विधायकों को छोड़कर कांग्रेस (107-19) = 88

भाजपा+रालोपा (72+3) = 75

अन्य (निर्दलीय: 13, रालोद : 1, बीपीटी : 2, सीपीएम: 2) कुल : 18

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890