Cover

राष्ट्रपति ने सैनिक अस्पताल को दिए 20 लाख रुपये, कोरोना से लड़ाई में मिलेगी मदद

नई दिल्ली। कारगिल युद्ध में बहादुरी से लड़ने वाले जवानों को श्रद्धांजलि के रूप में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को यहां स्थित सैनिक अस्पताल को उपकरणों की खरीद के लिए 20 लाख रुपये दिए। इससे चिकित्सा कर्मियों को कोविड-19 महामारी से मुकाबला करने में मदद मिलेगी।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, सैन्य अस्पताल को राष्ट्रपति के योगदान का उपयोग पीएपीआर (पावर्ड एयर प्यूरीफाइंग रेस्पिरेटर) की इकाइयों की खरीद के लिए किया जाएगा। यह सर्जरी के दौरान चिकित्सा कर्मियों को सांस लेने में सक्षम बनाने तथा उन्हें संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने वाला अत्याधुनिक उपकरण है।

कारगिल युद्ध में लड़ने वाले जवानों को श्रद्धांजलि के रूप में दिया दान

विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह रोगियों की देखभाल करने के वृहद उद्देश्य को पूरा करेगा तथा उन योद्धाओं की सुरक्षा करेगा जो अदृश्य शत्रु से लड़ रहे हैं। बयान में कहा गया है, कारगिल युद्ध में बहादुरी से लड़ने वाले एवं सर्वोच्च बलिदान देने वाले जवानों को श्रद्धांजलि के रूप में राष्ट्रपति ने यहां स्थित सैन्य अस्पताल (रिसर्च एंड रेफरल) को उपकरणों की खरीद के लिए 20 लाख रुपये दिए। इससे कोविड-19 महामारी से प्रभावी रूप से मुकाबला करने में चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों को मदद मिलेगी। कारगिल युद्ध में पाकिस्तान पर जीत की आज 21वीं वर्षगांठ है, जिसे कारगिल विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है।

चिकित्सा कर्मियों को कोविड-19 से मुकाबला करने में मदद मिलेगी

विज्ञप्ति में कहा गया है कि सैन्य अस्पताल को राष्ट्रपति का योगदान राष्ट्रपति भवन के व्यय में मितव्ययिता बरतने से संभव हो सका है। इससे पहले राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति भवन में कई उपाय शुरू कर व्यय में कमी लाने के निर्देश जारी किए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.