Cover

उत्तर प्रदेश एक दिन में एक लाख से अधिक सैंपल टेस्ट करने वाला पहला राज्य

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रसार के बीच में भी उत्तर प्रदेश सरकार की इसपर अंकुश लगाने की मुहिम जारी है। सीएम योगी आदित्यनाथ अनवरत समीक्षा करने के साथ ही साथ हर रोज नये उपाय पर भी जोर दे रहे हैं। उत्तर प्रदेश में सैंपल टेस्टिंग भी जोरों पर है। उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जहां पर एक दिन में एक लाख से अधिक टेस्ट हो रहे हैं। टेस्ट की संख्या बढऩे के साथ ही संक्रमितों की संख्या भी विस्तार ले रही है।

सीएम योगी आदित्यनाथ प्रतिदिन अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के साथ कोरोना वायरस संक्रमण पर समीक्षा बैठक करने के साथ जिलों का भी दौरा करते हैं। दौरा भी ऐसा होता है कि एक दिन में तीन जिलों में जाकर वहां के अस्पतालों का हाल देखने के साथ जिलों के शीर्ष अधिकारियों के साथ समीक्षा की जाती है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को ही अपनी कर्मस्थली गोरखपुर के बाद बलिया व वाराणसी का दौरा किया था।

प्रदेश में इसी बीच आज रिकॉर्ड एक लाख से अधिक नमूनों की जांच रिपोर्ट आई है, जो अब तक की सर्वाधिक है। अब तक कुल 19 लाख से अधिक लोगों की कोरोना जांच हो चुकी है । वही 1.90 लाख सॢवलांस टीमें सक्रिय कर दी गयी है। जिन इलाकों में सबसे ज्यादा रोगी मिल रहे हैं वहां और सघन जांच की जायेगी। इस समय पांच जिले चुनौती बने हुए हैं यहां संक्रमित मरीज सबसे ज्यादा हैं। इसमें लखनऊ में 3210, कानपुर में 1799, वाराणसी में 1282, झांसी में 983 व गाजियाबाद में 932 एक्टिव केस हैं। प्रदेश में अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 67 हजार से अधिक हो गया है।

कोरोना वायरस के खिलाफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विभिन्न मोर्चों पर बेहद सक्रिय हैं। इनमें सर्वाधिक असरदार मोर्चा टेस्टिंग बन गया है। इसी मोर्चा को सीएम योगी आदित्यनाथ शुरूआत से ही सबसे अधिक बढ़ाने पर जोर दे रहे थे। इसका ही नतीजा है कि आज एक लाख ने ज्यादा कोरोना टेस्टिंग करने वाला उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है। राज्य सरकार ने रविवार को प्रदेश में कोविड-19 के 106962 टेस्ट करने में सफलता प्राप्त की है।

मुख्यमंत्री के सचिव आलोक कुमार ने कहा कि यूपी सरकार ने प्रतिदिन की कोविड-19 की जांच में छह डिजिट के आंकड़े को पार कर गई है। रविवार को राज्य में कोरोना के 106962 संदिग्ध की जांच की गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयासों से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जारी रखने में यूपी सरकार हर संभव कदम उठा रही है।

टेस्टिंग के मामले में उत्तर प्रदेश अन्य राज्यों की तुलना काफी बेहतर स्थिति में है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रैपिड एंटीजन टेस्ट की संख्या बढाकर एक लाख रोजाना करने तथा हर दस दिन में दस लाख टेस्टिंग किट लेने का शनिवार को निर्देश दिया है। इसके साथ एन्टीजन टेस्ट की संख्या को बढ़ाकर एक लाख टेस्ट प्रतिदिन करने की बड़ी आवश्यकता जताई थी। टेस्टिंग ने काफी तेजी पकड़ी, लेकिन टेस्टिंग के एवज में कोरोना संक्रमित मामले ज्यादा नहीं मिल रहे हैं। टेस्टिंग की तुलना में संक्रमित मरीज मिलने का राष्ट्रीय औसत 14 फीसदी है तो उत्तर प्रदेश में पांच फीसदी के आस-पास है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890