Cover

‘राम लला’ के लिए भक्तों ने खोल दिए खजाने, करोड़ों की संपत्ति पहुंची मंदिर के खाते में

अयोध्या में रामजन्मभूमि परिसर में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए बड़े पैमाने पर भक्त दिल खोलकर दान कर रहे है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच अगस्त को अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे। भव्य मंदिर की नींव के लिए भक्तों द्वारा सोने और चांदी की ईंटों के अलावा अभी तक 22 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने मंगलवार को यहां कहा कि लोग बड़ी संख्या में चांदी की ईंटें दान कर रहे हैं, लेकिन हमें निर्माण कार्य के लिए नकद धन की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे चांदी की ईंटों का दान करने के बजाय हमारे बैंक खाते में नकद धन जमा करें।

इस बीच, राम कथावाचक, मुरारी बापू ने मंगलवार को मंदिर निर्माण के लिए पांच करोड़ रुपये दान करने की घोषणा की। उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, पिछले चार महीने के लॉकडाउन के दौरान, ट्रस्ट को नकद दान ऑनलाइन और अन्य स्रोतों के माध्यम से दान प्राप्त हुआ जो कि छह करोड़ रुपये से अधिक है। जिस दिन ट्रस्ट का गठन किया गया था, सरकारी रिसीवर ने फिक्स्ड डिपॉज़टि के रूप में 11 करोड़ रुपये से अधिक का ट्रांसफर किया था, जो भक्तों से दान के रूप में एकत्र किया गया धन था। यह धन दिसंबर 6,1992 से फरवरी 2020 तक राम लल्ला मंदिर के नाम से जमा की गयी थी। हालांकि, ट्रस्ट को कई करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के सोने, चांदी और आभूषण भी सौंपे गए हैं, जो भक्तों द्वारा दिसंबर 6,1992 के बाद से दान किए गए थे।

ट्रस्ट ने कहा कि ताला बंद होने से पहले, हैदराबाद के एक जौहरी ने अपने बेटे के नाम पर शिलान्यास कार्यक्रम के लिए एक किलोग्राम सोना और पाँच किलोग्राम चांदी की ईंटें दान में दीं। इसके अलावा राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को लखनऊ इंडिया बुलियन ज्वेलर्स एसोसिएशन ने 34 किलोग्राम चांदी की ईंटों का दान किया है।

ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने भी पांच रजत शिलाएं दान में दी हैं, जबकि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले 25 मार्च को 11 लाख रुपये का दान दिया था, जब मूर्तियों को एक मंदिर में स्थानांतरित कर दिया गया था। कई प्रसिद्ध संतों और भक्तों ने राम मंदिर के निर्माण के लिए दान देने की भी घोषणा की है जिसमें बाबा रामदेव और अन्य शामिल हैं। निर्माण कंपनियों द्वारा मूल्यांकन किए गए राम मंदिर की प्रारंभिक लागत के अनुसार, इसके लिए 500 से 800 करोड़ रुपये की निधि की आवश्यकता होगी। हालांकि मंदिर परिसर को क्षेत्रफल बढ़ गया तो यह लागत और बढ़ सकती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890