Cover

पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों की मौत पर वन्यजीव प्रेमियों में आक्रोश, शांतिपूर्ण ढंग से किया विरोध प्रदर्शन

पन्ना: पन्ना टाइगर रिजर्व में पिछले एक माह में दो बाघों की मौत से अब वन्यजीव व वन्यप्रेमियों सहित शहरवासियों में आक्रोश का माहौल निर्मित हो रहा है। आज वन्यजीव व वन्यप्रेमियों सहित पन्ना परिवर्तन मंच के सदस्यों ने पन्ना टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक कार्यालय में पहुंचकर प्रबंधन का शांतिपूर्ण विरोध किया औऱ पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन पर बाघों की देखरेख व सुरक्षा में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया।  गौरतलब है कि पन्ना टाइगर रिजर्व में लगातार हो रही बाघों की मौत से वन्यजीव व वन्यप्रेमियों सहित शहर वाशियों में आक्रोश फैल रहा रहा है।

इसके साथ ही दो दिन पहले हुई बाघ की मौत पर खजुराहो सांसद बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा एवं कैबिनेट मंत्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह पहले ही अपनी चिंता व्यक्त कर चुके हैं और आज अंतराष्ट्रीय बाघ दिवस पर पन्ना के वन्यजीव व वन्यप्रेमियों सहित पन्ना परिवर्तन मंच के सदस्य पन्ना टाइगर रिजर्व क्षेत्र संचालक के कार्यालय तक हाथों में काली तख्तियों में स्लोगन लिखकर पहुच गए जिसमे सेफ़ दा टाइगर सहित पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन मुर्दाबाद के स्लोगन लिखे गए थे।

सभी प्रदर्शन कारियों ने कार्यालय की दीवार पर स्लोगन युक्त पोस्टर चस्पा कर दिए और कहा कि पन्ना टाइगर रिजर्व में सब कुछ सही नहीं चल रहा है। लगातार हो रही बाघो की मौत से सभी हताहत है। जिसमें प्रबंधन की लापरवाही सामने निकलकर आ रही है। प्रदर्शन कारियों ने प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रबंधन द्वारा बाघों की देखरेख में घोर लापरवाही की जा रही है। जिसे किसी कीमत पर बर्दास्त नही किया जाएगा। क्योंकि पन्ना के लोगों ने पन्ना टाइगर रिजर्व के लिए बहुत कुर्बानी दी है और वर्ष 2008-09 में जब पन्ना टाइगर रिजर्व बाघ विहीन हो गया था लोग वह दिन दोबारा नही देखना नहीं चाहते हैं। अगर प्रबंधन की लापरवाही इसी प्रकार जारी रहती है तो उग्र आंदोलन करने की बात भी प्रदर्शन कारियों ने कही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.