Cover

रक्षाबंधन पर कोरोना का साया: जेल में बंद भाइयों को राखी नहीं बांध पाएंगी बहनें

उन्नाव: कोरोना महामारी से सबकुछ प्रभावित हो रहा है। अब भाई-बहन के पवित्र रिश्ते भी इसकी चपेट में आ गए हैं। उन्नाव डीजी जेल आनंद कुमार ने आदेश जारी किया है। जिसमें उन्होंने फैसला लिया है कि कोरोना के कारण इस बार बहनें जेल में बंद अपने भाइयों की कलाई पर राखी नहीं बांध सकेंगी।

बता दें कि उन्नाव में रक्षा बंधन पर्व पर जेल में निरुद्ध बंदी व कैदी भाइयों को उनकी बहनें राखी बांधने आती हैं। हर साल रक्षा बंधन पर जेल के भीतर होने वाला आयोजन इसबार नहीं होगा।

कैदियों तक पहुंचा दी जाएगी राखी: जेल अधीक्षक
जेल अधीक्षक ऐ के सिंह ने बताया कि जेल में निरुद्ध बंदी भाइयों को उनकी बहनें राखी, रोचना, चावल एक लिफाफे में रखकर उसपर बंदी का नाम व सामग्री देने वाले परिजन का नाम व पता लिखकर जेल गेट पर बनी कोविड हेल्प डेस्क में जमा करा दें। रक्षा बंधन से 48 घंटे पहले यानी 1 अगस्त को शाम 4 बजे तक लिफाफे में प्राप्त होने वाली राखियों को ही लिया जाएगा। लिफाफों को सैनिटाइज कराने के बाद रक्षाबंधन पर बंदी भाइयों तक पहुंचा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि लिफाफे के अंदर या अलग से मिठाई या कोई भी खाद्य सामग्री न रखें। बताया कि जेल में इस समय 1115 बंदीं व कैदी हैं। इनमें 59 महिलाएं भी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890