Cover

प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार की तरफ से दिए लोधी एस्टेट स्थित आवास को खाली किया

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लोधी एस्टेट में केंद्र सरकार द्वारा आवंटित आवास खाली कर दिया है। कांग्रेस महासचिव ने इस महीने की शुरुआत में सरकार द्वारा 35, लोधी एस्टेट में आवास को वापस लेने की घोषणा के बाद अपना लंबित बकाया क्लियर कर दिया है। सरकारी आदेश में कहा गया था कि गांधी अब विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) द्वारा संरक्षित नहीं हैं और इसलिए अब वह इस आवास के पात्र नहीं हैं। आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के संपदा विभाग के निदेशालय ने उन्हें एक जुलाई को एक महीने के भीतर अपना घर खाली करने के लिए नोटिस जारी किया था।

विभाग ने अपने आदेश में कहा था कि 01.08.2020 के बाद दंड किराए देना पड़ेगा। कुछ दिनों बाद, उसी बंगले को भाजपा सांसद और पार्टी प्रवक्ता अनिल बलूनी को आवंटित किया गया। बता दें कि लम्बे समय तक देश में यूपीए सरकार के शासनकाल में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी एसपीजी के जेड प्लस सुरक्षा कवर में थीं। इसी कारण उनको नई दिल्ली में लोधी एस्टेट का 35 नंबर सरकारी बंगला अलॉट हुआ था। अभी कुछ महीने पहले ही उनकी एसपीजी सुरक्षा को हटा कर अब सिर्फ जेड प्लस कर दिया गया है। एसपीजी सुरक्षा हटने के बाद एक जुलाई को केंद्र सरकार के आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने उन्हेंं 31 जुलाई तक यानी एक महीने में सरकारी घर खाली करने का नोटिस दिया था।

प्रियंका गांधी को 1997 में नई दिल्ली में 35, लोधी एस्टेट बंगला आवंटित किया गया था। समाचार रिपोर्टों ने कुछ कांग्रेस नेताओं के हवाले से कहा कि उनके अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अपने रिश्तेदार के घर ‘कौल निवास’ में शिफ्ट होने की उम्मीद है। इस कदम को उनके आगे की राजनीति को लेकर भी देखा जा रहा है। 2022 में राज्य में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर गांधी का आने वाले दिनों में यूपी में अधिकांश समय बिताने की उम्मीद है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.