Cover

अफगानिस्तान ने 400 तालिबानी आतंकियों को छोड़ा, शांति बहाल करने के लिए कदम

काबुल। अफगानिस्तान के युद्धरत पक्षों के बीच बातचीत की जल्द शुरुआत का मार्ग प्रशस्त करते हुए अफगान परिषद ने 400 तालिबानी आतंकवादियों को अपनी कैद से मुक्त कर दिया है। देश भर से आए राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक, शैक्षिक वर्गो के 3,200 प्रमुख लोगों ने छोड़ने के लिए सहमति दी।

तालिबान ने सरकार से वार्ता शुरू करने के लिए इन केदियों की रिहाई की शर्त रखी थी। अफगानिस्तान के इस कदम से संयुक्त राज्य अमेरिका को अपने सैनिकों को वापस बुलावे और अपनी सबसे लंबी सैन्य भागीदारी को समाप्त करने के लिए और करीब ले आया है।

काबुल के राजनीतिक नेतृत्व और तालिबान के बीच बातचीत अगले सप्ताह का शुरुआथ में होने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि यह बातचीत मध्य पूर्वी राज्य कतर में होगी, जहां तालिबान का राजनीतिक कार्यालय है। हालांकि, इसके लिए अभी तक कोई तारीख निर्धारित नहीं की गई है।

बता दें कि हमलों में हजारों लोगों को मार चुके इन आतंकियों की रिहाई को लकेर तीन दिनों तक चली बाठक में फैसला लिया गया। इससे पहले सरकार करीब पांच हजार तालिबानियों को रिहा कर चुकी है। बदले में तालिबान ने भी करीब 1,100 सरकारी बलों के लोगों, सरकारी कर्मचारियों और राजनीतिक दलों के लोगों को अपनी कैद से मुक्त किया है।

फरवरी में संयुक्त राज्य अमेरिका और तालिबान के बीच हुए शांति समझौता हुआ था। अफगान वार्ता रखी गई थी। समझौते का उद्देश्य अफगानिस्तान से अमेरिकी सेनाओं की वापसी और शांति बहाली था। इस समझौते के बाद तालिबान की अफगान सरकार से वार्ता होनी थी लेकिन तालिबान ने पहले बंदियों की रिहाई की शर्त रख दी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890