Cover

पाक की नापाक करतूत: चीन को दिए गिलगित-बाल्टिस्तान में अवैध खनन का अधिकार

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय कानूनों व अपने संविधान का उल्लंघन कर पाकिस्तान ने चीन की खनन कंपनियों को गिलगित बाल्टिस्तान (Gilgit Baltistan, GB) में अवैध सोने व यूरेनियम की खनन के अधिकार दे दिए। केवल वही नहीं इस्लामाबाद ने बीजिंग के साथ करोड़ों रुपये का कंट्रैक्ट भी किया है जो दायमर डिविजन (Daimer division) पर एक बड़े बांध के निर्माण के लिए किया गया है। बता दें कि यह इलाका कानूनी तौर पर भारत का है।

गिलगित बाल्टिस्तान में सोना, यूरेनियम और मॉलिब्डेनम के खनन के लिए 2000 से अधिक लीज (lease) अवैध तरीके से चीनी कंपनियों को पाकिस्तान ने दे दिया है। चीन इस बात से अवगत है कि गिलगित-बाल्टिस्तान इलाका कानूनी रूप से भारत का है। इस परियोजना के 2028 में पूरा होने की उम्मीद है। आधारभूत परियोजनाओं को विकसित करने के लिए पाकिस्तान सरकार ने जिस चीनी कंपनी को 44,200 करोड़ रुपये का ठेका दिया है, वह चीन की सेना का हिस्सा है।

चीन ने जैसा अक्साई चिन में किया, वैसा ही गिलगित बाल्टिस्तान में करना चाह रहा है। अक्साई चिन एक समय भारत का हिस्सा था लेकिन चीन ने उस पर कब्जा कर उसे अपना हिस्सा बना लिया और अब उसे विकसित करने में जुटा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890