Cover

कर्नल संतोष बाबू की पत्‍‌नी ने नियुक्ति को लेकर सौंपी रिपोर्ट, सीएम ने दिया था नियुक्ति पत्र

हैदराबाद। पूर्वी लद्दाख की गलवन घाटी में 15 जून को चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू (Colonel Santosh Babu) की पत्‍‌नी संतोषी ने उपजिलाधिकारी के रूप में नियुक्ति को लेकर अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। आधिकारिक बयान के अनुसार, पूर्व की घोषणा के मुताबिक उन्हें इस पद पर नियुक्त किया गया और प्रक्रिया के तहत संबंधित रिपोर्ट मुख्य सचिव सोमेश कुमार को सौंपी गई।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के आदेश पर अमल करते 22 जुलाई को ही संतोषी को नियुक्ति पत्र दे दिया गया था। उन्हें पांच करोड़ रुपये की मुआवजा राशि के साथ घर के लिए जमीन भी आवंटित की जा चुकी है। कर्नल और 19 अन्य सैनिक 15 जून को लद्दाख की गैलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में शहीद हो गए थे। कर्नल के परिवार में उनकी पत्नी, नौ साल की बेटी और चार साल का बेटा है।

उधर, यहां के नेहरू जूलॉजिकल पार्क (Nehru Zoological Park) में एक रॉयल बंगाल बाघिन से पैदा हुए तीन शावकों में से एक का नाम स्वर्गीय कर्नल संतोष बाबू के नाम पर रखा गया है। एनजेडपी के अधिकारियों ने शनिवार को 74 वें स्वतंत्रता दिवस समारोह पर इस बात की घोषणा की। जूलॉजिकल पार्क के क्यूरेटर एन क्षितिज ने घोषणा करते हुए कहा कि सेना के दिवंगत अधिकारी के सम्मान में एक नर शावक का नाम ‘संतोष’ रखा गया है।

बाघिन आशा ने तीन नर शावकों को जन्म दिया था। दो अन्य शावकों का नाम ‘सूर्या’ और ‘संकल्प’ रखा गया है। क्यूरेटर ने कहा कि एनजेडपी दुनिया में सबसे अच्छे चिड़ियाघरों में से एक के रूप में जाना जाता है, जो अपने अधिकारियों और कर्मचारियों के अथक प्रयासों के कारण संभव हुआ। उन्होंने उन कर्मचारियों को सराहना प्रमाण पत्र और नकद पुरस्कार प्रदान किए, जिन्होंने इस साल उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान की थीं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.