Cover

आधी रात को फायरिंग, गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़; डर से घरों में बंद रहे लोग

नई दिल्ली। दिल्ली के मोरी गेट के कूचा मोहत्तर खान इलाके में रविवार देर रात उस समय हड़कंप मच गया, जब अज्ञात बदमाशों की भीड़ ने बस्ती में तबाड़तोड़ फायरिंग कर दी। अचानक हुई इस फायरिंग से डरे-सहमे लोग घरों में दुबके रहे। बदमाशोें के वहां से जाने के बाद लोगों ने पुलिस को घटना के बाबत जानकारी दी। बताया जा रहा है कि बदमाशों ने कई घरों और गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि रविवार को रात करीब 12 बजे करीब 15-20 अज्ञात बदमाशों ने दहशत फैलाते हुए बिना किसी को निशाने पर लिए इलाके में ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी, जिससे इलाके में डर का माहौल पैदा हो गया।

हैरान करने वाली बात तो यही है कि बदमाशों ने घरों और गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की, लेकिन किसी शख्स पर हमला नहीं किया। यह भी जानकारी मिली है कि ताबड़तोड़ फायरिंग के डर से लोग अपने घरों में छिप गए। वहीं, सूचना पर पहुंची पुलिस को मौके से कई राउंड फायरिंग के निशान और खोके भी मिले हैं। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि बदमाशों के एक समूह ने रविवार रात को मोरी गेट इलाके में वाहनों में तोड़फोड़ की और हवा में कुछ राउंड फायरिंग भी की। मिली जानकारी के मुताबिक, हमलवार दूसरे समूह के कुछ लोगों की तलाश कर रहे थे। इससे पहले दोनों समूहों में झड़प हुई थी। अभी तक कोई सीसीटीवी फुटेज नहीं मिला, लेकिन पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

बदमाशों ने निजी कंपनी के कैशियर से 11 लाख लूटे

वहीं, एक अन्य घटना में गुलाबी बाग थाना क्षेत्र में बाइक सवार बदमाशों ने निजी कंपनी के कैशियर से 11 लाख रुपये लूट लिए। बदमाशों ने टक्कर मारने के बहाने कैशियर को रोककर वारदात को अंजाम दिया। वारदात के बाद चारों बदमाश फरार हो गए।पीडि़त अमित कुमार ने गुलाबी बाग थाना पुलिस को बताया कि वह वजीरपुर इंडस्टि्रयल एरिया स्थित एक कंपनी में कैशियर की नौकरी करते हैं। कंपनी के मालिक मदन लाल गोयल ने उन्हें नकदी लाने की जिम्मेवारी सौंपी थी। शालीमार बाग निवासी अमित कंपनी के एक अन्य कर्मचारी प्रभाष के साथ गत बृहस्पतिवार को नकदी लेने कूचा महाजनी गए थे। वहां से वे 11 लाख रुपये स्कूटी की डिग्गी में रखकर कंपनी लौट रहे थे। जैसे ही वे प्रताप नगर मेट्रो स्टेशन के पास पहुंचे तभी एक बाइक पर आए दो युवकों ने उन्हें रोक लिया। वे इस बात पर उनसे झगड़ने लगे कि स्कूटी से उनकी बाइक में टक्कर लग गई है, जबकि ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी। कहासुनी के दौरान अन्य बाइक पर आए बदमाशों के दो साथियों ने नजर बचाकर स्कूटी की डिग्गी में रखे रुपये से भरा बैग निकाल लिया और फरार हो गए। बाद में जब अमित की खुली डिग्गी पर नजर पड़ी तो उसके होश उड़ गए। पुलिस बदमाशों की पहचान में जुटी है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890