Cover

कोरोना को मात देने वाले केंद्रीय मंत्री अमित शाह एम्स में भर्ती, अस्पताल ने जारी किया बयान

नई दिल्ली। चार दिन पहले ही कोरोना वायरस संक्रमण को शिकस्त देने वाले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संथान (All India Institute Of Medical Science) में भर्ती कराया गया है। एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की अगुवाई में अनुभवी डॉक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य पर नजर रखे हुए है। बताया जा रहा है कि गृह मंत्री अमित शाह को देर रात करीब 2 बजे एम्स में भर्ती कराया गया है। उन्हें पुराने प्राइवेट वार्ड में रखा गया है। एम्स  के मुताबिक,  उनकी हालत सामान्य है और स्थिर है। उन्हें सांस से संबंधित परेशानी बताई जा रही है। इस वजह से एम्स निदेशक डाॅ. रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में उनका इलाज चल रहा है। वहीं, समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद वह यहां पर भर्ती हुए हैं और अमित शाह अस्पताल से ही कामकाज कर रहे हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने के चलते गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती देश के गृहमंत्री अमित शाह पिछले सप्ताह 14 अगस्त को ही संक्रमण से मुक्त हुए थे। उन्होंने स्वयं ही ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी। उन्हें शुक्रवार शाम 5 बजकर 58 मिनट पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। इसके बाद डॉक्टरों की सलाह के चलते स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे।

वहीं, कोरोना वायरस संक्रमण को मात देने के बाद शुक्रवार को अपने स्वास्थ्य के बारे में अमित शाह ने ट्वीट कर बताया था कि आज (शुक्रवार) मेरी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं और इस समय जिन लोगों ने मेरे स्वास्थ्य लाभ के लिए शुभकामनाएं देकर मेरा और मेरे परिजनों को ढांढस बंधाया उन सभी का ह्रदय से आभार व्यक्त करता हूं। डॉक्टरों की सलाह पर अभी कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा। साथ ही ट्वीट किया-कोरोना संक्रमण से लड़ने में मेरी मदद करने वाले और मेरा उपचार करने वाले मेदांता अस्पताल के सभी डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ का भी आभार व्यक्त करता हूं।

गौरतलब है कि गृहमंत्री अमित शाह कोरोना पॉजिटिव (Amit Shah Corona Positive) पाए गए थे और उसके बाद उन्हें डॉक्टरों की सलाह पर 2 अगस्त को मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। यहां पर भर्ती होने के दौरान भी अमित शाह पूरी तरह से सक्रिय रहे और लगातार फोन पर अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते रहे।

यहां पर बता दें कि गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में फिलहाल महंत नृत्यगोपाल दास भर्ती हैं। सर्दी-जुकाम और बुखार होने के बाद उनकी जांच की गई थी। वह श्रीकृष्ण जन्मोत्सव में शामिल होने मथुरा गए थे। जन्मोत्सव के बाद सियाराम मंदिर पर रुके थे। तबीयत खराब होने की सूचना पर मथुरा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी जांच टीम के साथ पहुंचे और जांच कराई। उनके कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिलने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उन्हें मेदांता लाया गया। महंत 5 अगस्त को राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या में हुए भूमि पूजन में शामिल हुए थे और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मंच साझा किया था। अस्पताल की वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. सुशीला कटारिया की देखरेख में उनका इलाज चल रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.