Cover

नागालैंड के लिए NSCN के अलग झंडे और संविधान की मांग नहीं मानेगी केंद्र सरकार

नई दिल्ली। एनएससीएन (मुइवा) भले ही नागालैंड के लिए अलग झंडे और अलग संविधान की मांग पर अड़ा हो, लेकिन मोदी सरकार इसे मानने के लिए कतई तैयार नहीं है। पिछले कुछ दिनों से एनएससीएन (मुइवा) के नेता दिल्ली में खुफिया ब्यूरो के अधिकारियों के साथ बातचीत कर अलग संविधान और अलग झंडे की मांग पर मनाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उन्हें इसके लिए साफ-साफ मना किया जा चुका है।

एनएससीएन (मुइवा) समेत विभिन्न नागा अलगाववादी संगठनों के साथ बातचीत की जानकारी रखने वाले उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार नागा नेता आईबी के वरिष्ठ अधिकारियों को यह समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि नागा आंदोलन के शुरू होने के समय से ही उनका एक झंडा रहा है, जो नागा आंदोलन का प्रतीक बन चुका है। इसे छोड़ने पर पिछले सात दशक की नागा आंदोलन की पहचान खत्म हो जाएगी। यही स्थिति नागा आंदोलन से जुड़े संविधान की भी है।

समझौता का हिस्सा नहीं होगा

वहीं केंद्र सरकार की ओर से नागा नेताओं को यह बताया गया है पिछले साल ही संसद ने भारी बहुमत से जम्मू-कश्मीर में अलग झंडे और अलग संवैधानिक प्रावधान को खत्म किया है। ऐसे में एक नए राज्य के लिए ऐसे ही प्रावधान को स्वीकार नहीं किया जा सकता है। नागा नेताओं को कहा गया है कि वे निजी तौर अपनी पार्टी के लिए इस झंडे का प्रयोग कर सकते हैं, लेकिन यह समझौता का हिस्सा नहीं होगा।

2015 में केंद्र और एनएससीएन के बीच समझौते के व्यापक फ्रेमवर्क पर सहमति बनी थी

ध्यान देने की बात है कि 2015 में केंद्र सरकार और एनएससीएन के बीच समझौते के व्यापक फ्रेमवर्क पर सहमति बनी थी। इसके बाद नागा विवाद के स्थायी समाधान की उम्मीद बढ़ गई थी। पिछले पांच सालों में इसमें काफी प्रगति भी हुई और विवाद के लगभग सारे बिन्दुओं पर सहमति बन गई, लेकिन अलग झंडे और अलग संविधान को लेकर मामला उलझ गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890