Cover

प्रधानमंत्री मोदी आज देश के चार शहरों में कबाड़ चुगने वालों से करेंगे बातचीत

करनाल: देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल वीरवार को प्रात: 11 बजे वर्चुअल प्लेटफार्म से करनाल के कुछ रैगपिकर्स यानि कूड़ा बीनने वालों के साथ बात करेंगे। स्वच्छ भारत मिशन और इसके प्रभाव तथा शहर की साफ-सफाई, जन जागरूकता और रहन-सहन पर क्या प्रभाव पड़ा है, इस पर भी बात होगी।

खास बात यह है कि इस कार्यक्रम के लिए हरियाणा से केवल करनाल को चुना गया है, जो देश के चार शहरों में शामिल है। तीन अन्य शहरों में कर्नाटक का मैसूर, उत्तर प्रदेश का फिरोजाबाद और बिहार का मुंगेर शामिल हैं। प्रधानमंत्री के इस कार्यक्रम को लेकर शहर के सभी नागरिक, नगर निगम प्रशासन अति उत्साहित हैं, जाहिर है कि प्रधानमंत्री के साथ बातचीत में अपने शहर को ओर साफ-सुथरा बनाने के लिए नई ऊर्जा और प्रेरणा मिलना मुमकिन है।

20 अगस्त को राष्ट्रीय स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 का परिणाम भी घोषित होगा। पिछले तीन वर्षों के परिणामों और रैंकिंग पर नजर डालें, तो वर्ष 2017 के स्वच्छ सर्वेक्षण में करनाल शहर को 65वां स्थान, वर्ष 2018 में 41वां तथा बीते वर्ष 2019 में 24वां स्थान हासिल हुआ था, इस क्रम को देखते लगता है कि अपना शहर टॉप 10 में सम्मानजनक स्थान प्राप्त कर सकता है।

स्वच्छ भारत मिशन के वाइस चेयरमैन सुभाष चन्द्र ने कहा कि 20 अगस्त को प्रधानमंत्री रैगपिकर्स के साथ बात करने के साथ-साथ अपना सम्बोधन भी करेंगे, जो पूरे राष्ट्र के लिए होगा। इसके लिए नगर निगम तैयारियों में जुटा है। प्रदेश सरकार के आला अधिकारी भी इस कार्यक्रम को लेकर व्यस्त बने हुए हैं। सोमवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल आगमन पर प्रधानमंत्री के इस कार्यक्रम और स्वच्छ सर्वेक्षण के परिणामों का जिक्र किया था और रैगपिकर्स से भी बात की थी।

दूसरी ओर नगर निगम के मेरठ रोड स्थित एम.आर.एफ. यानि मैटिरियल रिकवरी फैसिलिटी सेंटर पर रैगपिकर्स द्वारा कूड़े-कचरे में से प्लास्टिक की बोतलें, पॉलिथीन और गत्ते जैसे रैग को बीनने का काम पूर्ववत जारी है। उम्मीद है कि प्रधानमंत्री के साथ वर्चुअल मीटिंग अति उपयोगी रहेगी और स्वच्छ भारत मिशन को लेकर उनसे मिलने वाले निर्देशों से करनाल स्वच्छता के मामले में ओर अधिक बेहतर तरीके से आगे बढ़कर राष्ट्रीय स्तर पर गौरव हासिल करेगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.