Cover

वाटरस्टोन रिसॉर्ट का CBI टीम ने किया दौरा, सुशांत ने यहां बिताए थे दो महीने

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की एक टीम ने रविवार को एक रिसॉर्ट का दौरा किया, जहां दिवंगत एक्टर ने दो महीने बिताए। रविवार सुबह सीबीआइ की टीम वाटरस्टोन रिसॉर्ट पहुंची और दो घंटे से अधिक समय बिताया। उन्होंने यह जानने का प्रयास किया किया कि रिसॉर्ट में रहते वक्त सुशांत का व्यवहार कैसा था। इससे पहले सुशांत के फ्लैट-मेट सिद्धार्थ पिठानी और कुक नीरज पूछताछ के लिए सांताक्रुज स्थित डीआरडीओ गेस्ट हाउस पहुंचे, जहां सुशांत की मौत के मामले की जांच कर रही सीबीआइ टीम रह रही है। बता दें कि आज जांच का तीसरा दिन है। समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार गुरुवार से सीबीआइ ने अब तक पिठानी और नीरज से तीन-तीन बार पूछताछ कर चुकी है। टीम को जल्द ही रिया चक्रवर्ती और परिवार के सदस्यों से भी पूछताछ करने वाली है। एजेंसी के एक सूत्र ने यह भी कहा कि सीबीआइ सुशांत, रिया और अन्य के कॉल डिटेल रिकॉर्ड मांगेगी

इससे पहले सीबीआइ की एक टीम ने 14 जून को मृत पाए जाने से पहले सीन रीक्रिएट के लिए शनिवार को उपनगर बांद्रा में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के फ्लैट का दौरा किया। सीबीआइ टीम के साथ सुशांत का रसोइया नीरज और फ्लैट-मेट सिद्धार्थ पिठानी और एक अन्य स्टाफ दीपेश सावंत भी थे। नीरज और पिठानी ने अभिनेता को कथित रूप से उनके कमरे में लटकता पाया था। जानकारी के अनुसार टीम यहां छह घंटे तक रही।

सीबीआइ टीम सुशांत के फ्लैट पर फिर आ सकती है

एक अधिकारी के अनुसार फॉरेंसिक विशेषज्ञ भी सीबीआइ टीम का हिस्सा थे, जो 14 जून को घटनाओं काअनुक्रम फिर से बनाना चाहते थे। जैसे ही सीबीआइ अधिकारी और केंद्रीय फॉरेंसिक विशेषज्ञ दोपहर 2.30 बजे मोंट ब्लांक अपार्टमेंट पहुंचे, मीडियाकर्मियों और दर्शकों की भारी भीड़ मौके पर जमा हो गई। टीम पहले बिल्डिंग की छत पर गई और फिर फ्लैट में घुस गई। बाहर से उन्हें बेडरूम की तस्वीरें खींचते और वीडियो शूट करते देखा गया। जानकारी के अनुसार सीबीआइ टीम सुशांत के फ्लैट पर फिर आ सकती है।

महिला का सनसनीखेज दावा

अधिकारी ने कहा कि सीबीआइ टीम जांच कर रही थी कि क्या घटनास्थल पर आत्महत्या संभव थी। खुद को इमारत में रहने का दावा करने वाली एक महिला ने संवाददाताओं से कहा कि मौत से एक दिन पहले 13 जून को सुशांत के आवास पर कोई पार्टी नहीं थी, जैसा कि मीडिया के एक वर्ग ने दावा किया है।

पिठानी और नीरज के बयान दर्ज

शुक्रवार को सीबीआइ अधिकारियों ने पिठानी और नीरज के बयान दर्ज किए थे। इस बीच, सीबीआइ की एक अन्य टीम ने शनिवार को शहर के राजकीय कूपर अस्पताल का दौरा किया, जहां शव का परीक्षण किया गया था। जांच अधिकारी अस्पताल के डीन से मिले। शव परीक्षण करने वाले डॉक्टरों से भी मिलने की उनकी योजना है

बांद्रा पुलिस स्टेशन का दौरा

सीबीआइ की एक तीसरी टीम ने मुंबई पुलिस के अधिकारियों से मिलने के लिए बांद्रा पुलिस स्टेशन का दौरा किया, जो पहले सुशांत की कथित आत्महत्या की जांच कर रहे थे। शुक्रवार को मुंबई में जांच शुरू करने के बाद से यह सीबीआइ टीम का बांद्रा पुलिस स्टेशन का दूसरा दौरा था। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को रिया चक्रवर्ती और अन्य के खिलाफ पटना में दर्ज प्राथमिकी सीबीआइ को हस्तांतरित करने को बरकरार रखा था

पिठानी और संदीप को गिरफ्तार किया जाना चाहिए- नीरज कुमार सिंह बबलू 

इस बीच, सुशांत के चचेरे भाई, भाजपा विधायक नीरज कुमार सिंह बबलू ने कहा कि मृतक सुशांत के दोस्त पिठानी और संदीप को निश्चित रूप से गिरफ्तार किया जाना चाहिए और सीबीआइ को उनसे पूछताछ करनी चाहिए। सीबीआइ जांच सही दिशा में जा रही है। हमें उम्मीद है कि दोषी पकड़े जाएंगे। सिद्धार्थ पिठानी को निश्चित रूप से गिरफ्तार किया जाना चाहिए। नीरज ने आगे कहा कि जब हम सुशांत के अंतिम संस्कार के लिए गए, तो हमने देखा कि पिठानी के चेहरे पर कोई उदासी नहीं थी। मुझे उसकी गतिविधियों पर शक है। वह सुशांत के सहयोगी हुआ करता था। सुशांत के एक अन्य सहयोगी, संदीप ने भी मेरे चचेरे भाई की मृत्यु के दस दिन बाद मीडिया पर लोगों को क्लीन चिट देना शुरू कर दिया। वह एक गैंगस्टर की तरह काम कर रहा था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.