Cover

पूर्व सांसद अतीक अहमद पर UP सरकार का शिकंजा, प्रयागराज में 25 करोड़ की पांच संपत्तियां कुर्क

प्रयागराज। अहमदाबाद की जेल में बंद बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद के काले कारनामों पर योगी आदित्यनाथ सरकार का शिकंजा कस गया है। गैंगस्टर अतीक अहमद के खिलाफ प्रयागराज में बड़ी कार्रवाई की गई। सरकार ने यहां पर अतीक अहमद की करीब 25 करोड़ की पांच संपत्तियां को कुर्क किया है। इसके साथ ही सात अन्य संपत्तियों की भी नाप-जोख जारी है।

गुजरात के अहमदाबाद जेल में बंद प्रयागराज के फूलपुर से समाजवादी पार्टी के सांसद रहे माफिया डॉन अतीक अहमद की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। अतीक अहमद के गैंग डी-227 के सदस्यों के खिलाफ र्कारवाई और अतीक के दो शस्त्र लाइसेंस के जब्तीकरण के बाद अब गैंगस्टर एक्ट के तहत सीज की गई उसकी सम्पत्तियों को कुर्क करने की भी कार्रवाई की जा रही है।

प्रयागराज के एसएसपी अभिषेक दीक्षित ने बताया कि बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद की लगभग 25 करोड़ की पांच सम्पत्ति को कुर्क करने की कार्रवाई गई है। अपराध से अॢजत सम्पत्तियों को डीएम के आदेश पर कुर्क किया गया। इनमें चकिया में ढाई करोड़ के दो मकान, ओम प्रकाश सभासद नगर और कालिंदीपुरम में ढाई करोड़ के दो मकान और सिविल लाइन एमजी रोड में बीस करोड़ की संपत्ति कुर्क की गई है। इसके साथ ही अन्य संपत्तियों को कुर्क करने की कार्रवाई जारी है।

प्रयागराज में बाहुबली अतीक अहमद की संपत्तियों को कुर्क करने के लिए पुलिस प्रशासन की कई टीमें एक साथ अतीक के सात ठिकानों पर कुर्की की कार्रवाई कर रही है। अपराध के जरिए अॢजत की हुई संपत्ति को कुर्क करने के लिए पुलिस और प्रशासन की टीमें सिविल लाइंस, खुल्दाबाद और धूमनगंज इलाके में छानबीन कर रही हैं। इन टीमों ने सीज की गई सम्पत्तियों को कुर्क करने के लिए नोटिसें चस्पा करने की कार्रवाई कर दी है। पुलिस की एक टीम अतीक अहमद के चकिया स्थित आवास पर भी कुर्की की कार्रवाई कर रही है।

13 अन्य संपत्तियां भी राडार पर

अतीक की कुर्क होने वाली सम्पत्तियों में उनका चकिया स्थित घर और कर्बला स्थित कार्यालय भी शामिल है। प्रयागराज के डीएम डीएम भानु चन्द्र गोस्वामी ने अतीक अहमद के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत 28 अगस्त तक सात संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश दिया था। इसके साथ ही अभी 13 अन्य सम्पत्तियों को कुर्क करने का मामला भी प्रयागराज डीएम के समक्ष विचाराधीन है।

तीक अहमद के भाई और पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ की तीन जुलाई को गिरफ्तारी के बाद से ही अतीक के खिलाफ पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। कुछ दिन पहले अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन ने पुलिस पर प्रताडऩा का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि 2003 में जिन संपत्ति को कुर्क किया गया था, उसे वर्ष 2004 में रिलीज कर दिया गया था। अब साजिश के तहत पुलिस जिलाधिकारी को गलत रिपोर्ट बनाकर जिलाधिकारी को दे रही है।

बसपा सरकार में भी हो चुकी है कुर्की

बसपा शासनकाल के दौरान 2003-04 में भी तत्कालीन डीएम के आदेश पर अतीक अहमद की प्रयाजराज में कई संपत्तियां कुर्क की थीं। इस बार पहले से ज्यादा अचल संपत्तियां चिह्नति कर कुर्की का आदेश जारी करने के लिए रिपोर्ट जिलाधिकारी के पास भेजी गई हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890