Cover

लद्दाख में सेना प्रमुख ने लिया तैयारियों का जायजा, बोले- LAC पर स्थिति नाजुक और गंभीर

नई दिल्ली। चीन के साथ नए सिरे से बढ़े तनाव के बीच थलसेना अध्यक्ष जनरल एमएम नरवाने दो दिन के लद्दाख दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने सेना की तैयारियों का जायजा लिया। सेना प्रमुख ने कहा कि हमारी सुरक्षा के लिए हमने कुछ एहतियाती कदम उठाए हैं। जवानों का मनोबल ऊंचा है और वे सभी चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार हैं। चीन से राजनयिक और सैन्य स्तर पर बातचीत जारी है। इस विवाद को बातचीत के जरिए हल किया जा सकता है।

बता दें कि चीन द्वारा पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर यथास्थिति को एकतरफा बदलने की विफल कोशिशों के कारण हालात तनावपूर्ण हैं। चीन की हरकतों को देखते हुए भारत ने इस क्षेत्र में अतिरिक्त बल और हथियारों की तैनाती को बढ़ा दिया है।

LAC पर स्थिति नाजुक और गंभीर

सेना प्रमुख ने कहा कि मैंने अलग-अलग जगहों पर ऑफिसर्स से बात की और स्थिति का जायजा लिया। जवानों का मनोबल बहुत ऊंचा है वो हर चुनौती का सामना करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि अभी LAC पर जो स्थिति है वो नाजुक और गंभीर है, लेकिन हम लगातार इसके बारे में सोच विचार कर रहे हैं। हमारी सुरक्षा के लिए हमने कुछ एहतियाती कदम उठाए हैं। मुझे उम्मीद है कि हमने जो तैनाती की है उससे हम अपनी सुरक्षा कायम रखेंगे।

भारत ने सामरिक महत्व के ठिकानों पर अपनी मौजूदगी बढ़ाई 

सोमवार को भारतीय सेना ने बताया था कि चीनी सेना ने 29-30 अगस्त की रात पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर यथास्थिति को बदलने की ‘एकतरफा’ कोशिश में ‘उकसावे वाली सैन्य गतिविधियां’ कीं। लेकिन भारतीय सैनिकों ने चीन की कोशिशों को विफल कर दिया। इस घटना के बाद भारतीय सेना ने पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर स्थित ऊंचाई वाले कम से कम तीन सामरिक महत्व के ठिकानों पर अपनी मौजूदगी बढ़ा दी है। सूत्रों ने बताया कि एलएसी से लगे भारतीय क्षेत्र में पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर भी एहतियाती तौर पर सैनिकों की तैनाती का ‘पुनर्नियोजन’ किया गया है।

सीमा पर ताजा हालात चीन की ‘हरकतों’ की वजह से

इस बीच, भारत ने गुरुवार को साफ तौर पर कहा कि पूर्वी लद्दाख में जो हालात बने हैं, वह चीन द्वारा पिछले चार महीनों में यथास्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिशों का सीधा परिणाम है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि भारत सभी मसलों का समाधान बातचीत के जरिये करने को प्रतिबद्ध है। इसके पहले मंगलवार को श्रीवास्तव ने कहा था कि दोनों देशों के कमांडरों के बीच होने वाली बातचीत के एक दिन पहले ही चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने फिर से ‘उकसाने वाली कार्रवाई’ की।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें-8418855555