Cover

प्रयागराज के बाद अब अलीगढ़ में राज्य विश्वविद्यालय, नाम होगा राजा महेंद्र प्रताप सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी

लखनऊ। प्रयागराज में केंद्रीय विश्वविद्यालय के इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के बाद प्रोफेसर राजेंद्र सिंह (रज्जू भैया) राज्य विश्वविद्यालय की तर्ज पर अब अलीगढ़ को भी एक राज्य विश्वविद्यालय का तोहफा मिलने जा रहा है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने अलीगढ़ में भी राज्य विश्वविद्यालय खोलने की योजना फाइनल कर ली है। यहां पर राजा महेंद्र प्रताप सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी खोली जाएगी। राजा महेंद्र सिंह ने ही अलीगढ़ में विश्वविद्यालय खोलने के लिए अपनी जमीन दान की थी, लेकिन अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के किसी भी कोने में उनका नाम अंकित नहीं है। इसी कारण यहां पर एएमयू का नाम बदलने के लिए काफी मांग उठती रहती है। अब योगी आदित्यनाथ सरकार ने इसके लिए बीच का रास्ता निकाल लिया है।

राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के लिए जमीन दी थी, लेकिन उनके नाम का उल्लेख नहीं किया गया था और वहां पर उनके नाम पर एक भी पत्थर नहीं लगाया गया था। बीते करीब दो वर्ष से एएमयू का नाम भी बदलने को लेकर अलीगढ़ से भाजपा के सांसद तथा हिंदूवादी संगठन भी संघर्ष कर रहे हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाब में महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय बनाने का निर्णय लिया

योगी आदित्यनाथ सरकार अलीगढ़ में एक विश्वविद्यालय बनाने जा रही है, जिसका नाम राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवॢसटी होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अलीगढ़ मंडल के विकास कार्य, कोविड-19 तथा कानून-व्यवस्था की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को विश्वविद्यालय के निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया। यहां पर इस विश्वविद्यालय को बनाने की घोषणा भाजपा सरकार बनने के एक वर्ष बाद ही कर दी गई थी, लेकिन अब निर्माण में तेजी लाने का आदेश दिया गया है ताकि 2022 से पहले यह विश्वविद्यालय बनकर तैयार हो जाए

बताया जाता है कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने एएमयू (अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय) के लिए जमीन दी थी। इसके बाद भी इसके प्रांगण में उनके नाम का उल्लेख नहीं किया गया। कहीं पर भी उनके नाम पर एक भी पत्थर नहीं लगाया गया था। ऐसे में अब राज्य सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जवाब में महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय बनाने का निर्णय लिया है। भाजपा सांसद सतीश गौतम और सभी विधायकों ने राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर बनने वाले विश्वविद्यालय के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया है।

राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर अलीगढ़ एक विश्वविद्यालय की मांग 2018 में उठी थी। हरियाणा के भाजपा नेताओं ने जाट राजा के नाम पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का ही नाम बदलने का आह्वान किया था। इस बात का ज़ोर दिया गया था कि राजा महेंद्र प्रताप ने एएमयू के लिए अपनी भूमि दान की थी। स्थानीय राजनेताओं ने भी इसे लेकर मांग उठाई थी। इसके बाद योगी आदित्यनाथ सरकार ने इन सभी को 2019 में राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर अलीगढ़ में एक नया विश्वविद्यालय स्थापित करने का भरोसा दिलाया था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने 14 सितंबर, 2019 को विश्वविद्यालय के निर्माण की घोषणा की।

इसके लिए कोल तहसील के लोढ़ा और मुसईपुर गांवों में विश्वविद्यालय के लिए भूमि प्रस्तावित की गई है। अब जिला प्रशासन ने 37 हेक्टेयर से अधिक सरकारी भूमि देने का निर्णय किया है। इसके अलावा अन्य 10 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहित की गई है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.