Cover

संयुक्त राष्ट्र में राम मंदिर का मुद्दा उठाने पर भारत ने दिखाया पाकिस्तान को आईना

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र में कई बार मुंह की खाने के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। गुरुवार को उसने जम्मू–कश्मीर, विवादित ढांचा विध्वंस और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर टिप्पणियां कीं। प्रतिउत्तर में भारत ने जोरदार विरोध दर्ज कराया और पड़ोसी देश में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार का मामला उठाते हुए उसे आईना दिखाया।

पाक ने एक बार फिर भारत के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के लिए यूएन मंच का किया इस्तेमाल

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन की काउंसलर पालोमी त्रिपाठी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में ‘शांति की संस्कृति’ विषय पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘दुर्भाग्य से पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल ने एक बार फिर भारत के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के लिए संयुक्त राष्ट्र के मंच का इस्तेमाल किया। यह ऐसे समय में हो रहा है जब पाकिस्तान अपने देश में और सीमा पार हिंसा की संस्कृति को ब़़ढावा दे रहा है।’

भारत ने यूएन में पाक द्वारा राम मंदिर निर्माण को लेकर की गई टिप्पणियों की कड़ी निंदा की

त्रिपाठी ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत मुनीर अकरम द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर की गई टिप्पणियों की कड़ी निंदा भी की। त्रिपाठी ने कहा कि ईशनिंदा कानून का इस्तेमाल हिंदुओं, ईसाइयों और सिखों जैसे धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ उनके मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए किया जाता है।

पाक के खिलाफ एक सुर में बोले भारत और अमेरिका

पाकिस्तान को आतंकी संगठनों के खिलाफ तत्काल, सतत और अपरिवर्तनीय कार्रवाई करने की आवश्यकता है। ऐसा करने से यह सुनिश्चित हो सकेगा कि उसके नियंत्रण वाले किसी भी क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकवादी गतिविधियों में नहीं हो रहा है। भारत और अमेरिका ने गुरुवार को संयुक्त बयान में यह बात कही। दोनों देशों ने इस्लामाबाद से मुंबई हमले और पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले सहित अन्य आतंकी हमलों के दोषिषयों के खिलाफ त्वरित कानूनी कार्रवाई की भी मांग की। भारत–अमेरिका आतंकवाद निरोधी संयुक्त कार्य समूह की 17वीं बैठक और इंडिया-यूएस डेजिग्नेशन डायलॉग के तीसरे सत्र के बाद जारी एक संयुक्त बयान में दोनों देशों ने आतंकवाद के परोक्ष इस्तेमाल और सीमा-पार आतंकवाद की निंदा की। यह सत्र नौ और 10 सितंबर को ऑनलाइन आयोजित किया गया था।

पाकिस्तान के समर्थन में उतरा चीन

प्रायोजित आतंकवाद के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में भारत द्वारा पाकिस्तान को फटकार लगाए जाने के बाद शुक्रवार को चीन उसके समर्थन में खुलकर उतर आया। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिझियान ने कहा, ‘आतंकवाद सभी देशों के लिए चुनौती है। पाकिस्तान ने आतंकवाद को रोकने के लिए क़़डे प्रयास किए हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को ना केवल इन्हें मान्यता देनी चाहिए बल्कि इनका सम्मान भी करना चाहिए। चीन हर तरह के आतंकवाद का विरोध करता है।’

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

आप भी जानें, Congress के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने क्यों कहा- ‘झूठ की खेती’ करती है भाजपा     |     आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे का दो दिवसीय लखनऊ दौरा आज से, सीतापुर भी जाएंगे     |     यमुना एक्सप्रेस वे पर पलटी पश्चिम बंगाल के यात्रियों से भरी बस, 20 घायल     |     युवती ने घर फोन कर कहा बेहोश हो रही हूं, पुलिस ने चेक किया तो मैसेंजर पर प्रेमी से बात करती मिली     |     लखनऊ में न‍िकाह के तीसरे दिन घर में हाइवोल्‍टेज ड्रामा, गुस्‍साए युवक ने गोमती में लगाई छलांग     |     उत्‍तराखंड में कोरोना की वापसी, बुधवार को आए कोरोना के 110 नए मामले     |     राज्य के शिक्षक संघों को सरकार से आस, शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात     |     बीएमपी-दो टैंक से घुप्प अंधेरे में भी नहीं बचेंगे दुश्मन, ऑर्डनेंस फैक्ट्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत विकसित की नाइट साइट     |     रुतबा जमाने के लिए स्‍टोन क्रशर के मालिक ने गांव में की फायरिंग, दहशत में ग्रामीण     |     युवाओं को नागवार गुजरी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की ‘संस्कारी नसीहत’     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890