Cover

IPL 2020 फैंस के लिए करेगा कोरोना वैक्सीन के पहले डोज का काम, ये हैं 5 बड़ी बातें

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वैक्सीन आने में भले ही अभी समय हो, लेकिन आज से अगले 53 दिन तक क्रिकेट प्रशंसकों को ऐसी राहत मिलेगी जो किसी वैक्सीन से कम नहीं होगी। दुनिया की सबसे महंगी क्रिकेट लीग को भले ही कोरोना के कारण संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का रुख करना पड़ा है, लेकिन सबसे ज्यादा भारतीय दर्शक ही टेलीविजन के सामने बैठकर इसकी राहत की डोज लेंगे।

पिछले 12 साल से दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों को दीवाना करने वाली इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) का 13वां सत्र 29 मार्च से 24 मई तक होना था, लेकिन कोरोना के कारण उसे अनिश्चतकाल के लिए टाल दिया था। बीसीसीआइ ने इसे बाद में यूएई में आयोजित कराने का निर्णय लिया। अब मुंबई के वानखेड़े की जगह अबूधाबी के शेख जायद स्टेडियम में मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच पहला मुकाबला खेला जाएगा।

1. सकारात्मकता का संदेश

कोरोना ने भारतवासियों को ही नहीं पूरी दुनिया को परेशान किया है। सिनेमाघर बंद पड़े हैं। घूमना-फिरना बंद हो गया है। ऐसे में आइपीएल के मुकाबलों के जरिये देशवासी महेंद्र सिंह धौनी, विराट कोहली, रोहित शर्मा, एबी डिविलियर्स, स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर जैसे क्रिकेटरों के खेल को देखकर खुद का मनोरंजन तो करेंगे ही, साथ ही कुछ घंटों तक घर में भी रहेंगे। कुल मिलाकर यह लीग भारतीय प्रशंसकों की जिंदगी में कुछ खुशियां लेकर आएगी।

2. आज होगा बड़ा मुकाबला

मुंबई इंडियंस और सीएसके दो ऐसी टीमें हैं जिन्होंने अपने प्रदर्शन से प्रशंसकों की फौज खड़ी कर रखी है। मराठाओं की सेना ने जहां चार खिताब जीते हैं तो थलाइवा के योद्धाओं ने तीन बार आइपीएल ट्रॉफी जीती है। यही इन दोनों के बीच की प्रतिद्वंद्विता को और ज्यादा बढ़ाता है। इन दोनों के बीच जब भी मैच होता है तो मैदान नीली और पीली जर्सी के बीच में बंटा नजर आता है। ये दोनों टीमें ऐसी हैं जिनके मालिक अपने खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा सुविधाएं और समर्थन देते हैं। रोहित की कमान में मुंबई ने खुद को ऊंचाइयों तक पहुंचाया है तो धौनी ने 2008 से अब तक चेन्नई को हर बार खिताब की दौड़ में शामिल किया है।

3. दोनों टीमों का नुकसान

यह सत्र शुरू होने से पहले ही दोनों टीमों ने अपने बड़े खिलाड़ियों को गंवाया है। बेहतरीन श्रीलंकाई गेंदबाज लसित मलिंगा मुंबई की टीम में नहीं दिखाई देंगे तो आइपीएल इतिहास के दूसरे सबसे सफल बल्लेबाज सुरेश रैना व गेंदबाज हरभजन सिंह सीएसके का हिस्सा नहीं होंगे। मुंबई ने मलिंगा की जगह जेम्स पैटिंसन को शामिल किया है। वहीं, सीएसके ने सुरेश रैना और हरभजन सिंह का रिप्लेसमेंट नहीं मांगा है।

4. बराबरी का होगा मुकाबला

सीएसके में जहां फाफ डुप्लेसिस, ड्वेन ब्रावो, शेन वॉटसन, लुंगी नगिदी जैसे बड़े नाम हैं, तो मुंबई इंडियंस में इस बार क्रिस लिन जैसा विस्फोटक सलामी बल्लेबाज है। बायें हाथ के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक ट्रेंट बोल्ट भी उसके पास हैं। खुद रोहित, पांड्या बंधु, सूर्यकुमार भी बड़े शॉट के लिए जाने जाते हैं। यह देखना होगा कि धौनी किस भूमिका में रहते हैं।

5. पहली बार दर्शक नहीं

आइपीएल इतिहास में यह पहला मौका है जब मैदान पर दर्शक मौजूद नहीं होंगे। निश्चित तौर पर इसका असर उन खिलाड़ियों और टीमों पर जरूर पड़ेगा जिन्हें दर्शकों की उपस्थिति से सबसे ज्यादा टॉनिक मिलता है। इसमें भारतीय टीम और रॉयल चैलेंजर्स बेंगुलरु (आरसीबी) के कप्तान विराट कोहली सबसे आगे हैं। इसके अलावा 2014 के बाद यह पहला मौका है जब आइपीएल यूएई में हो रहा है। 2014 में भारत में लोकसभा चुनाव के चलते आइपीएल का एक दौर यूएई में हुआ था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.